Thursday, 20 June 2019

Pooja

Hindi Kahani ka Vikas | हिंदी कहानी का विकास


hindi katha sahitya ka vikas , hindi kahani ka vikas
hindi katha sahitya ka vikas



                                           हिंदी कहानी

                                                                                                                                 हिंदी गद्य विधाओं में कहानी सबसे सशक्त विधा बनकर विकसित
हुई है। आज कहानी के पाठकअन्य सभी विधाओं की तुलना में सर्वाधिक है। 
यही कारण है कि पत्र-पत्रिकाओं में कहानियों की मांग सर्वाधिक है। विगत 
100 वर्षों में हिंदी कहानी में जो प्रगति की हैवह उत्साहवर्द्धक है। अन्य सभी
गद्य विधाओं की अपेक्षा आज की हिंदी कहानी में युगबोध की क्षमता सबसे
अधिक दिखाई पड़ती है।
    
                            उपन्यास और कहानी दोनों में ही 'कथातत्व होते है
अंतप्रारंभ में लोगों की यह धारणा थी कि उपन्यास और कहानी में केवल आकार
का ही भेद है,किंतु अब यह धारणा निर्मूल हो चुकी है। ज्यों-ज्यों कहानी की 
शिल्पविधि का विकास होता गयाउपन्यास से उसका पार्थक्य भी अलग झलकने 
लगा।  वास्तव में कहानी में जीवन के किसी एक अंग या संवेदना की अभिव्यक्ति 
होती है जबकि उपन्यास में जीवन की समग्रता का अंकन किया जाता है। स्पष्ट 
है कि कहानी की मूल आत्मा 'एक संवेदना या एक प्रभाव हैकहानी का प्रमुख 
उद्देश्य भी कम से कम शब्दों में इस प्रभाव को अभिव्यक्त करना मात्र है।ब्लेट्ज हेमिंग्टन ने कहानी की परिभाषा देते हुए लिखा हैं -   
                                                                                    "The aim of 
                   a short story is to produce a single effect with the                         greatest economy of words."    

 'अज्ञेय ' के अनुसार
                                    " कहानी एक सूक्ष्मदर्शी यन्त्र है जिसके नीचे 
     मानवीय अस्तित्व के दृश्य खुलते हैं।"



                          हिंदी कहानी की विकास यात्रा का प्रारंभ 1900 . के 
      आसपास ही मानना समीचीन है, क्योंकि इससे पूर्व हिंदी में कहानी जैसी किसी 
      विधा का सूत्रपात नहीं हुआ था। हिंदी की प्रथम कहानी कौन - सी है - यह 
      एक विवादास्पद प्रश्न है। इस संबंध में जिन कहानियों का नाम लिया जाता है,
      वे हैं

                   रानी केतकी की कहानी   -    मुंशी इंशा अल्ला खान
                   राजा भोज का सपना       -    शिवप्रसाद सितारे हिंद
                   
इंदुमती                          -     किशोरी लाल गोस्वामी
                   
दुलाईवाली                     -     बंग महिला
                   
एक टोकरी भर मिट्टी       -    माधवराव सप्रे
                   
ग्यारह वर्ष का समय        -    आचार्य रामचंद्र शुक्ल


                          
इनमें से प्रथम दो में कहानी कला के तत्व विद्यमान नहीं है।
      अत: उन्हें हिंदी कहानी की श्रेणी में नहीं रखा जा सकता। आचार्य रामचंद्र शुक्ल 
       ने 'इंदुमती' को ही हिंदी की प्रथम मौलिक कहानी माना है जिसका प्रकाशन 
       सन् 1900 . में 'सरस्वतीपत्रिका में हुआ था, किंतु शिवदान सिंह चौहान
       के अनुसार यह कहानी शेक्सपियर के 'टेम्पेस्ट' का अनुवाद है, अत: मौलिक 
       रचना नहीं कहीं जा सकती सरस्वती पत्रिका में  ही सन्  1903 में रामचंद्र
      शुक्ल की कहानी  'ग्यारह वर्ष का समय' प्रकाशित हुई तथा सन् 1907 में
      बंग महिला की 'दुलाईवाली' कहानी छपी। इधर नवीन अनुसंधानों के आधार 
      पर यह सिद्ध हुआ हैं कि सन्  1901 में 'एक टोकरी भर मिट्टी' कहानी का 
      प्रकाशन 'छत्तीसगढ़ मित्र' नामक पत्रिका में हुआ थाजिसके लेखक 
      माधवराव सप्रे थे, अत: यह हिंदी की प्रथम मौलिक कहानी कही जा सकती
      हैं। 

                           
हिंदी कहानी के विकास का अध्ययन करने के लिए हम कथा
      सम्राट प्रेमचंद को यदि केंद्र बिंदु मान लें तो उसे चार भागों में विभक्त कर सकते
      हैं -
       
       1.  प्रेमचंद पूर्व हिंदी कहानी
       2.  
प्रेमचंदयुगीन हिंदी कहानी
       3.  
प्रेमचंदोत्तर हिंदी कहानी
       4.  
नई
कहानी


                    प्रेमचंद पूर्व हिंदी कहानी (सन् 1900 . से 1915 .) 

                    
कहानी                                                    कहानीकार

    
             मन की चंचलता                                            माधव प्रसाद मिश्र
    
             प्लेग की चुड़ैल                                              लाला भगवानदीन
   
             राखी बंद भाई नकली किला                         वृंदावन लाल वर्मा 
                    
             रक्षाबंधन                                                      विश्वम्भर नाथ शर्मा 'कौशिक'
   
              मिलन                                                           ज्वालादत्त शर्मा
    
             कानों में कंगना                                              राधिकारमण प्रसाद
    
             उसने कहा थासुखमय जीवन,                     चंद्रशर्मा गुलेरी
              बुद्धू का कांटा 
                    



                    सरस्वती में प्रकाशित कुछ प्रमुख कहानियाँ
                   
              कहानीकार                                               कहानी
   
       किशोरी लाल गोस्वामी                                 इंदुमती(1900)
    
       भगवानदीन                                               प्लेग की चुड़ैल(1902)
   
      आचार्य रामचंद्र शुक्ल                                   ग्यारह वर्ष का समय (1903)
   
      पंबेंकटेशनारायण                                       एक अशरफी की आत्म कहानी
                                                                        (1906)
    
      लाला पार्वतीनंदन                                         एक के दो दो(1906)
  
      पं. सूर्यनारायण दीक्षित                                  चंद्रहास का अद्भुत आख्यान
                                                                       (1906)
   
      बंग महिला                                                 दुलाईवाली (1907) 
  
      वृंदावनलाल वर्मा                                          राखीबंध भाई (1909)
                                                                      
तातार और एक वीर राजपूत (1910)
   
      ज्वालादत्त शर्मा                                            मिलन
   
      विश्वभर नाथ शर्मा 'कौशिक'                            रक्षा बंधन
   
      पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी                              झलमला
   
      प्रेमचंद                                                       सौत (1915)
                                                                      
पंच परमेश्वर (1916)
                                                                      
सज्जनता का दंड (1916)
                                                                      
ईश्वरीय न्याय (1917)
                                                                      
दुर्गा का मंदिर  (1917)
   
      चंद्रशर्मा गुलेरी                                             उसने कहा था (1915)

  

               प्रेमचंदयुगीन हिंदी कहानी (सन् 1916 . से 1936 .) 
      
      कहानीकार                                            कहानी / कहानी संग्रह
       
        प्रेमचंद                                            पंच परमेश्वर(1916), बूढ़ी काकी,
                                                             
गृहदाह, परीक्षा, आपबीती, लाटरी,
                                                             
सवा सेर गेहूं, आत्माराम, कजाकी,
                                                             
सुजान भगत, माता का युद्ध,नशा,
                                                             
शतरंज के खिलाड़ी, पूस की रात,
                                                             
बड़े भाई  साहब, ईदगाह, मन्त्र,
                                                             
ठाकुर का कुआंकफन(1936)
                                                             
कहानी संकलन - 'मानसरोवर' में
                                                             
आठ खंड (300 कहानियाँ)

     
विश्वभर नाथ शर्मा 'कौशिक'                   रक्षाबंधन, ताई, विधवा,
                                                              
कर्त्तव्यबल विद्रोही, पतित पावन
                                                              
कहानी संग्रह - गल्त मन्दिर,
                                                              
चित्रशाला, प्रेम प्रतिमा,
                                                              
मणिमाला, कल्लोल
    
      सुदर्शन                                              हार की जीत, दो मित्र, प्रेम तरु,
                                                              
कवि की स्त्री, एथेंस का सत्यार्थी,
                                                              
पत्थरों का सौदागर, तीर्थयात्रा,
                                                              
कमल की बेटीकहानी संग्रह-
                                                              
सुदर्शन सुधा, सुदर्शन सुमन,
                                                              
पुष्पलता, सुप्रभात, गल्पमंजरी,
                                                              
तीर्थयात्रा, पनघट, परिवर्तन इनके

      जयशंकर प्रसाद                                  आकाशदीप, पुरस्कार, आंधी,
                                                              
देवरथ, बेड़ी, प्रतिध्वनि, ममता,
                                                              
सालवती, मधुवा, इंद्रजाल
                                                              
कहानी संग्रहछाया, आंधी,
                                                             
प्रतिध्वनि, आकाशदीपइंद्रजाल
                                                          
           
      आचार्य चतुरसेन शास्त्री                        अंबपालिका, भिक्षुराज, प्रबुद्ध,
                                                             सिंहगढ़ विजय, पन्नाधाय,
                                                             
रूठी रानी, दे खुदा की राह पर,
                                                             
ककड़ी की कीमत, हल्दीघाटी में,
                                                             
बावर्चिन, बाणवधू
    
       उपेंद्रनाथ अश्क                                 निशानियां, दोधारा
   
       भगवती प्रसाद वाजपेयी                       दीपमालिका, हिलोर, हृदयगति,
                                                             
मिठाईवाला, स्वप्नमयी, शबनम,
                                                             
त्याग और वंशीवादन, झांकी,
                                                             
निंदिया लागी, कहानी संग्रह-
                                                             
मधुपर्व, दीपमालिका, हिलोर,
                                                             
पुष्करिणी, खाली बोतल,
                                                             
मेरे सपने, ज्वार-भाटा
   
       पांडेय बेचन शर्मा 'उग्र'                        चिंगारियां, शैतान मंडली,
                                                             
निर्लज्जा मन की अमीन,
                                                             
चॉकलेट, दोजख की आग, इंद्रधनुष
    
       राधिकारमण प्रसाद सिंह                      कानों में कंगना,दरिद्रनारायण,
                                                              
पैसे की घुंघनी, गांधी टोपी
                                                   
       राहुल सांकृत्यायन                               सतनी के बच्चे
  
       सुभद्रा कुमारी चौहान                           बिखरे मोती एवं उन्मादिनी संग्रह
 
       शिवरानी देवी                                      कौमुदी

       

                  प्रेमचंदोत्तर हिंदी कहानी (सन् 1936 . 1950 .)
    
        कहानीकार                                      कहानी \ कहानी संग्रह
    
         यशपाल                                         वो दुनिया, पिंजड़े की उड़ान,
                                                             
फूलों का कुर्ता, चक्कर क्लब,
                                                             
तर्क का तूफान, परदा,अभिशप्त,
                                                             
आदमी और खच्चर, मक्रील,
                                                             
उत्तमी की माँ, सच बोलने की भूल
                                                             
कहानी संग्रह- भस्मावृत्त, धर्मयुद्ध,
                                                             
चिनगारीपिंजरे की उड़ान ,
                                                             
तर्क का तूफान
       
         अज्ञेय                                             रोज, खितीन बाबू , गैंग्रीन, कड़ियां,
                                                             
पुलिस की सीटी, हजामत का साबुन,
                                                             
कठोरी की बात, पठार का धीरज, मैना,
                                                             
रेल की सीटी, हरसिंगार, सिगनेलर,
                                                             
कहानी संग्रह विपथगा, परंपरा,
                                                             
कठोरी की बात, अमन बल्लरी ,
                                                             
ये तेरे प्रतिरूप, शरणार्थी, जयदोल
      
         जैनेंद्र                                             जाह्नवी, पत्नी, मास्टर साहब, परख,
                                                             
एक रात, ध्रुव यात्रा, पानवाला,
                                                             
ग्रामोफोन का रिकॉर्डपाजेब,
                                                             
अपना-अपना भाग्य, एक दिन,
                                                             
नीलम देश की राजकन्या, वातायन,
                                                             
फांसी (कहानी संकलन)


     इलाचंद्र जोशी                                  रोगी, चौथे विवाह की पत्नी,
                                                         
मिस्त्री, प्रेतात्मा, कहानी संग्रह-
                                                         
खंडहर की आत्माएंडायरी के नीरस पृष्ठ,
                                                         
आहुति और दिवाली
                                                           
    विष्णु प्रभाकर                                    धरती अब भी घूम रही है, खिलौने,
                                                         
सांचे और कला,एक और कुंतीमेरा वतन,
                                                           पुल टूटने से पहले जिंदगी एक रिहर्सल
                                                         

   
भीष्म साहनी                                     भाग्य रेखा, पहला पाठ, पाली,
                                                          
भटकती राख, पटरियां, वाड्चू ,
                                                          
शोभायात्रा, निशाचर, डायन
   
    मुक्तिबोध                                         सतह से उठता हुआ आदमी,
                                                         
काठ का सपना
   
    भैरव प्रसाद गुप्त                                मंगली की टिकुली, आंखों का सवाल,
                                                         
मित्रों और अन्य कहानियां,सपने का अंत,
                                                         
महफिल आप क्या कर रहे हैं?
   
    अमरकांत                                        जिंदगी और जोंक ,देश के लोग ,
                                                         
मौत का नगर, मित्र मिलन, कुहासा
   
    राजेंद्र यादव                                     देवताओं की मूर्तियां, खेल खिलौने,
                                                         
जहां लक्ष्मी कैद हैअभिमन्यु की आत्मकथा,
                                                       
  छोटे-छोटे ताजमहल, अपने पार,
                                                         
किनारे से किनारे तक टूटना,
                                                         
ढोल और अन्य कहानियाँ, टूटना
    
     मोहन राकेश                                   इंसान के खंडहर , नए बादल,
                                                         
जानवर और जानवरएक और जिंदगी,
                                                  
       फौलाद का आकाश

  कमलेश्वर                                        राजा निरबंसिया, कस्बे का आदमी,
                                                      
खोई हुई दिशाएं, मांस का दरियाबयान
                                                
 धर्मवीर भारती                                  बंद गली का आखिरी मकान,
                                                     
चांद और टूटे हुए लोग
  
 लक्ष्मी नारायण लाल                           सूने आंगन रस बरसै, डाकू आये थे,
                                                     
एक बूंद जल, एक और कहानी,
                                                     
नये स्वर नयी रेखाएँ
    
 निर्मल वर्मा                                       परिन्दे (1960),जलती झांकी,
                                                     
पिछली गर्मियों मेंसूखा तथा अन्य कहानियाँ,
                                                       
कव्वे और कालापानी बीच बहस में
                                                     
 फणीश्वर नाथ रेण                               ठुमरी, आदमी रात्रि की महकअग्निखोर,
                                                       
एक श्रावणी दोपहर की धूपअच्छे आदमी
                                                         
 
 शिवप्रसाद सिंह                                 आर-पार की माला, भेडिये,
                                                       
कर्मनाशा की हार, अंधेरा हंसता है,
                                                       
इन्हें भी इंतजार है, मुरदासराय,
    
  मारकंडेय                                        पान-फूल, पत्थर और परछाईयां,
                                                       
महुए का पेड़, हंसा जाई अकेला,
                                                        
भूदान, माही, बीच के लोग
     
  रघुवीर सहाय                                   जो आदमी हम बना रहे हैंरास्ता इधर से हैं
                                               
  गंगा प्रसाद विमल                              विध्वंस, शहर में ,बीच की दरार,
                                                       
अतीत में कुछ, कोई शुरुआत
    
  रविंद्र कालिया                                   नौ साल छोटी पत्नी, चकैया नीम,
                                                       
काला रजिस्टर, गरीबी हटाओ

शैलेश मटियानी                                दो दुखों का एक सुखमहाभोज,
                                                     
सुहागिनी तथा अन्य कहानियाँ,
                                                     
हारा हुआ, तीसरा सुखचील
                                             
 
रामदरश मिश्र                                  खाली घर, एक वह, दिनचर्या,
                                                     सर्पदंश, बसंत का एक दिन
   
शेखर जोशी                                     कोसी की घटवार, हल-वाहा,
                                                     
साथ की नौरंगी बीमार हैमेरा पहाड़
                                              

काशीनाथ सिंह                                 लोग बिस्तरों पर, सुबह का डर,
                                                     आदमी- नामा, नयी तारीख,
                                                     
कल की फटेहाल कहानियाँ,
                                                     
सदी का सबसे बड़ा आदमी
                           

जगदीश चतुर्वेदी                               निहंग, अंधेरे का आदमी,
                                                     चर्चित कहानियां, विर्वत
                           

दूधनाथ सिंह                                     सपाट चेहरे वाला आदमी,
                                                      सुखांत, पहला कदम
     
गिरिराज किशोर                                चार मोती बे आबपेपर वेटजगतारनी,
                                                      नीम के फूल, वल्द रोजलहू पुकारेगा ,
                                                     
रिश्ता और अन्य कहानियां,
                                                     
शहद दर शहद , हम प्यार कर लें,
                                                     
गाना बड़े गुलाम अली खां का

हिमांशु जोशी                                 अंततः रथचक्र, मनुष्य, चिन्हजलते हुए डैने
 

गोविंद मिश्र                                    नए पुराने मां-बाप, अंत:पुर, धांसू ,
                                                   रगड़ खाती आत्माएं, अपाहिजपगला बाबा,
                                                   
खुद के खिलाफ, खाक इतिहास,
                                           
 
महीप सिंह                                     सुबह के फूल, उजाले के उल्लू ,
                                                    कुछ और कितना, कितने संबंध,
                                                    
दिल्ली कहां है, घिराव
                                

हृदयेश                                          छोटे शहर के लोग, उत्तराधिकारी,
                                                   अंधेरी गली का रास्ता, इतिहास,
                                                   
अमरकथा, नागरिक
                               

माहेश्वर                                         स्पर्श, डी.पी. सिंह की डिस्पेन्सरी
     
कामतानाथ                                    छुट्टियाँ, सब ठीक हो जाएगातीसरी सांस
                                           
   
विवेकी राय                                    नयी कोयल, गूंगा जहाजकालातीत ,
                                                    बेटे की बिक्रीचित्रकूट के घाट पर
                                           
संजीव                                           तीस साल का सफरनामा,
                                                   
भूमिका तथा अन्य कहानियाँ
                                 

मिथिलेश्वर                                      दूसरा महाभारत, एक में अनेकबाबू जी,
                                                   बंद रास्तों के बीच , मेघना का निर्णय,
                                                   
गांव के लोग, विग्रह बाबू ,                                           हरिहर काका तथा अन्य कहानियाँ,
                                                   
माटी की महक धरती गांव की


शानी                                            बबूल की छांवडाली नहीं फूलती,
                                                   
छोटे घेरे का विद्रोहशर्त क्या हुआ,
                                                   
बिरादरी तथा अन्य कहानियाँ,
                                                   
सड़क पार करते हुए
                                  

राकेश वत्स                                   अतिरिक्त तथा अन्य कहानियाँशुरुआत,
                                                  अंतिम प्रजापतिअभियुक्तएक बुद्ध और
                                       

सी.रायात्री                                   दूसरे चेहरेअलग-अलगअस्वीकार,
                                                  धरातलकेवल पिताअकर्मक क्रिया


बादशाह हुसैन रिजवी                      टूटता हुआ भय
   
धीरेन्द्र अस्थाना                              लोग हाशिये पर,आदमी खोर,मुहिम,
                                                  खुल जा सिम सिमजो मारे जायेंगे,
                                                  
विचित्र देश प्रेम कथा
    
वदी उज्जमा                                 अनित्यपुल टूटते हुए , चौथा ब्राह्मण

विजय मोहन सिंह                           टट्ट संवादएक बंगला बने न्यारा
                                  
अब्दुल बिस्मिल्लाह                         टूटा हुआ पंख,कितने कितने सवाल,

                                                   रैन बसेराअतिथि देवो भव


नरेंद्र कोहली                                  परिणतिकहानी का अभावशटल,
                                                   दृष्टि देश में एकाएकसंबंध
   
भीमसेन त्यागी                                दीवारें ही दीवारेंजबान
   
मधुकर सिंह                                   पूरा सन्नाटापहला पाठ
   
सतीश जमाली                                प्रथम पुरुषथके हारे
    

बलराम                                         कलम हुए हाथमालिक के मित्र,
                                                  अनचाहे सफर


योगेश गुप्त                                    टूटा हुआ कोनाअब रक के फूल

बटरोही                                        आगे के पीछेसड़क का भूगोल,
                                                  
अनाथ मोहल्ले के ठलुआदिवास्वप्न

उदय प्रकाश                                 दरियाई घोड़ातिरिछ
    
रमेश उपाध्याय                              नदी के साथजमी हुई झील
    
योगेश कुमार                                 परामर्शमिथ्याचक्र
    
स्वंय प्रकाश                                   मात्रा और भार,सूरज कब निकलेगा


शालिग्राम शुक्ल                              काला हंस
   
गिरीशचंद्र                                      कांटा
   
नवनीत मिश्र                                   मणियाँ और जख्म
    

मदन मोहन                                    छलांगबच्चे बड़े हो रहे हैं
    
मधुकर सिंह                                   मायकल जैक्सन की टोपी
    
भीष्म सहानी                                  डायन


रमेशचंद्र शाह                                थियेटर
    

अमरकांत                                      एक धनी व्यक्ति का बयान
    
रामदरश मिश्र                                 फिर कब आयेंगे
    
मैत्रेयी पुष्पा                                     गोमा हंसती हैं

विष्णु प्रभाकर                                 आखिर क्यों
    

शिवप्रसाद सिंह                                राग गूजरी
    
वीरेंद्र जैन                                       बीच के बारह साल


नासिरा शर्मा                                   खुदा की वापसी
    
संजृय                                            नंगा
    

चित्रा मूल                                       लपटें
    
स्वयं प्रकाश                                   अगले जन्म
   

कमलेश्वर                                       आजादी मुबारक


विजय                                           घोड़ा बाजार
    
महेश कटारे                                   पहरुआ
    
मुकेश वर्मा                                     खेलणपुर  अन्य कहानियाँ,
    

अरुण प्रकाश                                  विषम राग
    
मंजूर एहतेशाम                                तमाशा और अन्य कहानियाँ
    

कुंवर नारायण                                 आकारों के आसपास

दिनेश पालीवाल                               बंजरगिरता जटायु


द्विजेंद्रनाथ मिश्र 'निर्गुण'                      छोटा डॉक्टर


मन्नू भंडारी                                      अलगाव
  

धर्मवीर भारती                                  चांद और टूटे हुए लोग
  

मृदुला गर्ग                                       दुनिया का कायदाउसका विद्रोह


मंजुल भगत                                     सफेद कौआमृत्यु की ओर
  

मणिका मोहिनी                                हम बुरे नहीं थे
  

राजी सेठ                                        तीसरी हथेली
  

ज्ञानरंजन                                         संबंधशेष होते हुए

ओम गोस्वामी                                   दर्द की मछली
  

महेंद्र भल्ला                                      एक पति के नोट्सतीन-चार दिन
 

गिरिराज किशोर                                पेपरवेटवल्दरोजी
  
उदय प्रकाश                                    तिरिछपीली छतरी वाली लड़की,
                                                     
पाल गोमरा का स्कूटर और अंत में प्रार्थना,
                                                     दरियाई घोड़ादत्तात्रेय का दु:


धीरेंद्र अस्थाना                                  उस रात की गंधनींद के बाहर
   

ममता कालिया                                  बोलने वाली औरत


नमिता सिंह                                       राजा का चौकजंगल गाथा,
                                                      
निकम्मा लड़कानीलगाय की आंखें
  

बटरोही                                            हिडिम्बा के गांव मेंसड़क का भूगोल,
                                                      थानेदार किसी की नहीं सुनता
      

अखिलेश                                          मुक्तिआगे पीछेअनाथ मौहोले दुल दा
  
अब्दुल बिस्मिल्लाह                             रैन बसेरा


सुरेंद्र वर्मा                                         प्यार की बातें और अन्य कहानियां
  
सर्वेश्वर दयाल सक्सेना                          बदला हुआ कोणक्षितिज के पार,
                                                       
पराजय का क्षण

शिवप्रसाद सिंह                                      अंधकूप (संपूर्ण कहानियां),
                                                             एक यात्रा सतह के नीचे (संपूर्ण कहानियां)
                                                             
दिन के साथइन्हें भी इंतजार है ,
                                                             
करुणा आशा की हार


रामदरश मिश्र                                        दिन के साथखाली घरएक वह
   
दिनेश नंदिनी डालमिया                          तितिक्षा
  


हरिमोहन                                              खुली हुई नाव

राजेंद्र उपाध्याय                                      ऐश ट्रे
  

महेंद्र वशिष्ठ                                           उसकी कहानी
  

अमरेंद्र मिश्र                                           रात भर छत पर
   

शीतांशु भारद्वाज                                    पराया सुख
  

महावीर खाल्टा                                      समय नहीं ठहरता
   


मालती जोशी                                         रहिमन धागा प्रेम का

दोणवीर कोहली                                     जमा पूंजी
  

दूधनाथ सिंह                                          धर्म क्षेत्र कुरुक्षेत्र
  

आनंद प्रकाश                                         लिपस्टिक


मनोज सोमकर                                       हलफनामा , पोस्टर
  

पंकज                                                    बच्चे गवा नहीं हो सकते
  

रामकुमार भ्रमर                                      लौ पर रखी हथेली
   

मनोज चौहान                                         20 सुबह के बाद
  



             प्रेमचंदोत्तर प्रमुख महिला कहानीकार

कहानीकार                                  कहानी \ कहानी संग्रह

  
         शशिप्रभा शास्त्री                                धुली हुई शामअनूत्तरित,
                                                               
दो कहानियों के बीचजोड़-बाकी
   
          शिवानी                                            लाल हवेलीपुष्पहार
   
         कृष्णा सोबती                                     मित्रो मरजानीबादलों की घेरे
  
         मन्नू भंडारी                                       यही सच हैमैं हार गई,
                                                               
एक प्लेट सैलाबत्रिशंकु
                                                               
तीन निगाहों की एक तस्वीर

         उषा प्रियंबदा                                    जिंदगी और गुलाब के फूल
                                                               फिर बसंत आयाएक कोई दूसरा,
                                                               
कितना बड़ा झूठ
   
         ममता कालिया                                  छुटकारासीट नं. 6, प्रतिदिन,
                                                               
एक अदद औरतउसका यौवन
   
         दीप्ति खंडेलवाल                                कड़वे सचधूप के अहसास ,
                                                               
वह तीसरा , औरत और बातें,
                                                               
दो पल की छांवनारी मन
    
         मृणाल पांडे                                      शब्दवेधीएक नीच टैजेडी,
                                                             
एक स्त्री का विदा-गीत, दरम्यान
   
         मृदुला गर्ग                                       कितनी कैदेंटुकड़ा-टुकड़ा आदमी,
                                                              
डेफोडिल जल रहे हैंग्लेशियर से,
                                                              
उर्फ सैम 

        चित्रा मुद्गल                                       जहर ठहरा हुआलाक्षागृह,
                                                             
अपनी वापसीइस हमाम में,
                                                              
ग्यारह लंबी कहानियाँ
  
        राजी सेठ                                        अंधे मोड़ से आगेतीसरी हथेली,
                                                             
यात्रामुक्त

        मंजुल भगत                                     गुलमोहर के गुच्छे,सफेद कौआ,
                                                            
टूटा हुआ इंद्रधनुषक्या छूट गया,
                                                           
आत्महत्या के पहले,
                                                            कितना छोटा सफर,
                                                            
बावन पत्ते एक जोकर
   
       मणिका मोहिनी                               खत्म होने के बादस्वप्न दंशअन्वेषी
                                                          
अभी तलाश जारी है,पारुल ने कहा था,
                                                          
अपना अपना सच,ढाई आखर प्रेम का
   
       प्रतिमा वर्मा                                     एक सुबह औरबंधे पांव का सफर
   
       सुधा अरोड़ा                                    बगैर तराशे हुएयुद्ध विराम
    
       सूर्यबाला                                        एक इंद्रधनुष जुबैदा के नाम,
                                                          
दिशाहीनथाली भर चांद
     
       मेहरुत्रिसा परवेज                           आदम और हब्वाटहनियों पर धूप,
                                                         
फालगुनीगलत पुरुषअंतिम चढ़ाई
    
       इंदु बाली                                      टूटती जुड़तीमेरी तीन मौते,
                                                         
बिना छत का मकानअंधेरे की लहर,
                                                         
दूसरी औरत होने का सुख,
   
       मालती जोशी                                 मध्यांतरपटाक्षेपपराजय,
                                                         
विश्वास गाथा



                             नई कहानी  सन् 1950 के बा )

         कहानीकार                                                कहानी

          ज्ञानरंजन                                          फेंस के इधर-उधर,यात्रापिता,
                                                               क्षणजीवी,सपना नहीं, बहिर्गमन 

          मारकंडेय                                        महुए का पेड़हंसा जाई अकेला,
                                                              भूदानमाहीबीच के लोग

          मन्नू भंडारी                                      यही सच हैमैं हार गई,
                                                              
त्रिशंकु, तीन निगाहों की एक तस्वीर

          मोहन राकेश                                   आर्द्रा, मलबे का मालिक,अपरिचित                                                                 
                                                                 एक और जिंदगी, मिस पाल,                                                                               
                                                                           सेफ्टी पिन

          राजेंद्र यादव                                    जहां लक्ष्मी कैद हैटूटना,
                                                               छोटे-छोटे ताजमहल,
                                                             
अभिमन्यु की हत्या
  
          कमलेश्वर                                       राजा निरबंसिया, देवी की मां,
                                                             
एक अश्लील कहानी, बयान,
                                                             
नीली झीलतलाश
             
         धर्मवीर भारती                                 बंद गली का आखिरी मकान,
                                                             
गुलकी बन्नो, सावित्री नं. 2
  
         अमरकांत                                      जिंदगी और जोंक, डिप्टी कलक्टरी,
                                                            
दोपहर का भोजन

         शेखर जोशी                                   कोसी की घटवार 
  
         दूधनाथ                                         प्रतिशोध, सुखांत
   
         फणीश्वरनाथ रेणू                             तीसरी कसम, लाल पान की बेगम

         निर्मल वर्मा                                    परिंदे, लंदन की एक रात,
                                                            
कुत्ते की मौतलवर्स
  
         शिवप्रसाद सिंह                              कर्मनाशा की हार, अंधा कूप
                                                            आरपार की माला, मुर्दा सराय,
                                                            इन्हें भी इन्तजार है
  
         उषा प्रियंवदा                                 वापसी, छुट्टी का एक दिन
  
         कृष्ण बलदेव वैद                            बीच के दरवाजे, त्रिकोण
  
         रघुवीर सहाय                                 मेरे और नंगी औरतों के बीच
   
         रामकुमार                                      सेलर
   
        श्रीकांत वर्मा                                    झाड़ी
  
         रमेश वक्षी                                     पिता- दर- पिता
   
         रवींद्र कालिया                                एक डरी हुई औरत
   
         सुदर्शन चोपड़ा                               सड़क दुर्घटना
   
         गंगा प्रसाद विमल                            विध्वंस




Pooja

About Pooja -

Author Description here.. Nulla sagittis convallis. Curabitur consequat. Quisque metus enim, venenatis fermentum, mollis in, porta et, nibh. Duis vulputate elit in elit. Mauris dictum libero id justo.

Subscribe to this Blog via Email :