Friday, 28 June 2019

Pooja

Hindi Ekanki ka Vikas | हिंदी एकांकी का विकास

hindi ekanki ka vikas , hindi ekanki ke udbhav aur vikas
hindi ekanki ka vikas



                                              हिंदी एकांकी

  
                                    हिंदी एकांकी का प्रारंभ प्रसाद कृत 'एक घूंट' (1929)
एकांकी से माना जाता है। डॉ. नगेन्द्र ने रामकुमार वर्मा के एकांकी 'बादल की मृत्यु'
को हिंदी का पहला एकांकी माना है
  

                        हिंदी के प्रमुख एकांकीकार और उनकी रचनाएं
     
           एकांकीकार                                                 एकांकी \ एकांकी संग्रह
   
          जयशंकर प्रसाद                                           एक घूंट
   
          डॉ. रामकुमार वर्मा                                       बादल की मृत्यु (1930),
                                                                         
रेशमी टाई, चारुमित्रा,दस मिनट,
                                                                         
पृथ्वीराज की आंखें, विभूति,
                                                                          
सप्तकिरण, रूपरंग, इंद्रधनुष,
                                                                          
रजत रशिम, दीपदान, पांचजन्य,
                                                                          
ऋतुराज, रिमझिम, मयूरपंख,
                                                                         
जूही के फूल, कौमुदी महोत्सव,
                                                                         
औरंगजेब की आखिरी रात
   
          जगदीशचंद्र माथुर                                        भोर का तारा, कबूतरखाना,
                                                                          
मेरी बांसुरी, घोसलें, मेरे सपने,
                                                                           मकड़ी का जालखंडहर ,
                                                                          
खिड़की की राहभाषण
  
          भुवनेश्वर प्रसाद मिश्र                                     तांबे के कीड़े, आजादी की नींद,
                                                                         
सिकंदर, कारवां (1935), स्ट्राइक,
                                                                         
श्यामा, एक साम्यहीन साम्यवादी,
                                                                         
शैतान, प्रतिमा का विवाह, लाटरी
           
           उदयशंकर भट्ट                                          अभिनव एकांगी, स्त्री का हृदय,
                                                                         
चार एकांकी, समस्या का अंत,
                                                                         
धूमशिखा, अंधकार और प्रकाश,
                                                                         
आदमी युग, पर्दे के पीछे, दुर्गा,
                                                                         
आज का आदमी, शक विजय,
                                                                         
क्रांतिकारी,दस हजार,प्रथम विवाह,
                                                                         
वैवस्वत मनु , बड़े आदमी की मृत्यु,
                                                                         
वर निर्वाचन, सात प्रहसन, नेता,
                                                                         
उन्नीस और पैंतीस, एक ही कब्र में

        सेठ गोविंद दास                                         कंगाल नहीं, एकादशी, पंचभूत,
                                                                     
चतुष्पथ, सप्तरशिम, स्पर्द्धा,
                                                                       नानक की नमाज़कृषि यज्ञ,
                                                                      
तेगबहादुर की भविष्यवाणीमैत्री,
                                                                      
बुद्ध की एक शिष्यमानव मन
  
        उपेंद्रनाथ अश्क                                         चरवाहे, पर्दा उठाओ, पापी,
                                                                      
पर्दा गिराओ, अंधी गली,
                                                                      
साहब को जुकाम, पक्का गाना,
                                                                      
देवताओं की छाया में,सूखी डाली,
                                                                      
लक्ष्मी का स्वागत, : एकांकी,
                                                                      
पच्चीस श्रेष्ठ एकांकी,
                                                                      
कस्बे के क्रिकेट क्लब का उद्घाटन
  
       मोहन राकेश                                             अंडे के छिलके,सिपाही की मां,कर्फ्यू
  
       गोविंद बल्लभ पंत                                       विषकन्या
   
       विष्णु प्रभाकर                                            प्रकाश और परछाई, इंसान,
                                                                     
बारह एकांकी, क्या वह दोषी था,
                                                                     
दस बजे रात, ऊंचा पर्वत गहरा सागर,
                                                                     
ये रेखायें ये दायरे, आंचल और आंसू ,
                                                                      पापहत्या के बादमैं दोषी हूंँ,
                                                                     
एक औरत:एक मांप्रतिशोध
                                                                     
बंटवारानया समाजभगवान,
                                                                     
सरकारी नौकरीसांवले
                                 
       धर्मवीर भारती                                           नदी प्यासी थी, नीलीझील,
                                                                     
सृष्टि का आखिरी आदमी
   
       विनोद रस्तोगी                                           बहू की विदा, काले कौए गोरे हंस,
                                                                      पुरुष और पापकसम कुरान,
                                                                     निर्माण का देवता 

    
       गिरिजाकुमार माथुर                                    उम्र कैद
    
       पांडेय बेचन शर्मा उग्र                                 चार बेचारे
   
       हरि कृष्ण प्रेमी                                           मातृमंदिर, राष्ट्रमंदिरमानमंदिर,
                                                                     
न्यायमंदिरवाणीमंदिर
   
       कुंवर बहादुर                                             प्रजातंत्र की झलक
   
       लक्ष्मी नारायण मिश्र                                    अशोक वन, अपराजित, चक्रव्यूह

    लक्ष्मीकांत वर्मा                                          अपना-अपना जूता
  
    गंगा प्रसाद श्रीवास्तव                                   मिट्टी का शेर
 
    सत्येंद्र शरत्                                               शोहदा, प्रतिशोध, गुडबाई, अनीता

    आरसी प्रसाद सिंह                                      टूटे हुए दिल, कलंक मोचन,
                                                                   
समझौता
  
    प्रकाशचंद्र गुप्त                                          विजय किसकी, होटल
  
    रेवतीशरण शर्मा                                         मुझे जीने दो, उतार-चढ़ाव,
                                                                  
अमावस का अंधकार
   
    चिरंजीत                                                   दफ्तर जाते समय, नया जन्म,
                                                                  
चतुर्भुज महाशय, तस्वीर उसकी,
                                                                 
चक्रव्यूह
   
    गणेश प्रसाद द्विवेदी                                    सुहाग बिंदी तथा अन्य नाटक
   
    लक्ष्मीनारायण लाल                                     ताजमहल के आंसू ,पर्वत के पीछे,
                                                                  
नाटक बहुरंगी, दूसरा दरवाजा
   
    सुदर्शन                                                    राजपूत की हार
   
    भगवती चरण वर्मा                                     सबसे बड़ा आदमी
   
    जैनेंद्र कुमार                                             टकराहट
        
    गणेश प्रसाद त्रिवेदी                                    शर्माजी, कामरेड, गोष्ठी, परीक्षा,
                                                                 
रिहर्सल, धरती माता, रपट
   
    सद्गुरुशरण अवस्थी                                  सुदामा, कैकेयी, शम्बूक
   
    चंद्रगुप्त विद्यालंकार                                   मनुष्य की कीमत, तांगेवाला,
                                                                 
भेड़िये, हिंदुस्तान जाकर कहना,
                                                                 
नवप्रभात
         
     चतुरसेन शास्त्री                                       पन्नाधाय हाड़ारानी
  
     जयनाथ नलिन                                         हाथी के दांत, नवाबी सनक,
                                                                 
दृश्य-नए पुराने, रंग बदरंग
  

    



Pooja

About Pooja -

Author Description here.. Nulla sagittis convallis. Curabitur consequat. Quisque metus enim, venenatis fermentum, mollis in, porta et, nibh. Duis vulputate elit in elit. Mauris dictum libero id justo.

Subscribe to this Blog via Email :